हरियाली अमावस्या महत्व

Hariyali Amawasya In Hindi सावन मास में आने वाली कृष्ण पक्ष की अमावस्या को हरियाली अमावस्या के नाम से जाना जाता है | यह प्रकृति के सौन्दर्य को दर्शाता है | श्रावण के माह में अच्छी वर्षा से जगह जगह हरियाली होती है | इसमे पर्यावरण को धन्यवाद देने के लिए गाँवों में उत्सव मनाया जाता है | हमारे धर्म और संस्कृति में पर्यावरण संरक्षण और वृक्षारोपण पर विशेष ध्यान दिया जाता रहा है | पढ़े : साल 2018 में अमावस्या कब कब आएगी


हरियाली अमावस्या

हरियाली अमावस्या पर होती है पीपल की पूजा

सावन की इस हरियाली अमावस्या पर देवता तुल्य वृक्ष पीपल की पूजा विधि विधान से करना शुभकर माना जाता है | सोमवती अमावस्या पर भी पीपल की पूजा से विशेष फल प्राप्त होता है | घरो में मीठे पकवान (मालपुआ ) बनते है और फिर पीपल देवता की पूजा करके उनके चारो तरफ परिक्रमा की जाती है | फिर उन्हें भोग अर्पित करके हित के लिए कामना की जाती है |

पढ़े : शनि अमावस्या के टोटके और उपाय

वृक्षारोपण जरुर करे हरियाली अमावस्या पर :

इस दिन हमें एक वृक्ष जरुर लगाना चाहिए | यह बहुत पुण्य का कार्य है | वृक्ष हमें सिर्फ देते ही आये है इसलिए उसके संरक्षण का हमें विशेष ध्यान रखना चाहिए |

भगवान शिव की विशेष पूजा


भगवान शिव के सावन मास में यदि आप हरियाली अमावस्या पर पेड़ लगाते है तो वो अच्छे से बढेगा | सावन के महीने में शिवालयो में इस दिन विशेष शिव जी का श्रंगार किया जाता है | शिव की पूजा महामृत्युञ्जय मन्त्र और शिव स्तुति से की जाती है | हरियाली अमावस्या पर भोलेनाथ की विशेष पूजा का पुण्य अत्यंत है |

Other Similar Posts

अमावस्या पर टोटके और पूजा के उपाय

सोमवती अमावस्या महिमा

शनिवार को भूल से भी ना खरीदे ये चीजे

पूर्णिमा के दिन टोटके और उपाय

सावन मास के असरदार उपाय और टोटके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.