चैत्र मास महत्व और इस मास में आने वाले पर्व और त्योहार

Importance of First Month of Indian Calendar Chaitra Maas and Festivals during this period .

हिन्दू पंचाग का पहला मास चैत्र का ही है क्योकि इसी मास से शुभता और उर्जा आरम्भ होती है  | इसका सम्बन्ध चित्रा नक्षत्र से होने से इसका नाम चैत्र रखा गया है | शास्त्रों के अनुसार ब्रह्माजी ने चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से ही सृष्टि की रचना शुरू की थी। इसी दिन भगवान विष्णु के अवतारों में  सबसे पहले मत्स्य अवतार लेकर प्रलयकाल में अथाह जलराशि में से मनु की नौका का सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया था। प्रलयकाल समाप्त होने पर मनु से ही नई सृष्टि की शुरुआत हुई।

chaitra maas mahtav

इसी महीने के शुक्ल पक्ष की प्रथमा से भारतीय नववर्ष ( विक्रम संवत ) की शुरुआत होती है | इस मास में हिन्दू धर्म के कई मुख्य पर्व और त्योहार आते है जो निम्न है |

चैत्र मास में आने वाले पर्व और त्योहार

हिन्दू पंचांग का पहला मास अपने अन्दर बहुत से मुख्य उत्सव और  पर्व समेटे हुए है | भारतीय नव वर्ष की शुरुआत इसी मास से होती है जो फाल्गुन मास तक समाप्त होती है |

चैत्र कृष्ण पक्ष में आने वाले पर्व और त्योहार

~ रंग पंचमी : कृष्ण पक्ष की पंचमी को यह मनाई जाती है |

~शीतलाष्टमी : कृष्ण पक्ष की अष्टमी को बासोड़ा पर्व में माता शीतला को ठन्डे का भोग लगाकर अच्छे स्वास्थ्य की कामना की जाती है |

shitla mata ka parv shitlashtami

~ चैत्र कृष्ण एकादशी को में पापमोचनी एकादशी के दिन विष्णु भगवान से पापो से मुक्ति की विनती की जाती है |

चैत्र शुक्ल पक्ष में आने वाले पर्व और त्योहार

~ हिन्दू नववर्ष : चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से चैत्र मास के नवरात्रि और नववर्ष की शुरुआत होती है |

~ गणगौर : शिव पार्वती को समर्प्रित पर्व उत्तर भारत में महिलाओ द्वारा धूम धाम से मनाया जाता है जो चैत्र शुक्ल तृतीया को आता है |

~ राम नवमी : भगवान श्री राम का जन्मोत्सव चैत्र मास की नवमी को मनाया जाता है |

~ कामदा एकादशी : कामनाओ की पूर्ति के लिए विष्णु भगवान की शुक्ल पक्ष की एकादशी चैत्र में आती है |

पढ़े : कामदा एकादशी व्रत महत्व और कथा पूजन विधि

~हनुमान जयंती : चैत्र पूर्णिमा को अष्ट चिरंजीवी में से एक हनुमान जी का जन्मोत्सव को मनाया जाता है |

चैत्र मास में कौनसे काम करना फलदायी है

~ चैत्र मास में आने वाले नवरात्रि में माँ दुर्गा और उनके रूपों की पूजा करना और व्रत रखना अति फलदायी बताया गया है | इससे शक्ति रूपी उर्जा की प्राप्ति होती है |

चैत्र मास नवरात्रि पर्व

~ इस मास में हर दिन सूर्य देवता को जल से अर्ध्य देना चाहिए और सूर्य उपासना करनी चाहिए , ऐसा करने से समाज में आपका यश और सम्मान बढ़ता है |

~ चैत्र मास में पेड़ो में पानी और जीवो के लिए पानी की व्यवस्था करने से पूण्य की प्राप्ति होती है |

~ इस महीने में लाल रंग के फलो का दान करना चाहिए |

Other Similar Posts

वैशाख मास का महत्व और महिमा

कार्तिक मास का महत्व महिमा और पुण्य

पुरुषोत्तम मास | मलमास की पौराणिक कथा

क्यों मनाया जाता है गणगौर का त्योहार

शीतला माता से जुडी मुख्य पांच बाते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.