यमराज धर्मराज कौन है और जाने इनसे जुड़ी रोचक बाते

कौन है यमराज ? क्यों इन्हे धर्मराज कहा जाता है

Yamraj Dharmraj Ki Kahani

हिन्दू धर्म में यमराज को मृत्यु का देवता बताया गया है | इनका कार्य शायद आपको बुरा लगे पर इन्ही के कारण इस धरती का संतुलन बना रहता है | यह दण्डधर है जो व्यक्ति को मृत्यु के बाद उसके कर्मो के अनुसार सजा देते है | यदि व्यक्ति के कर्म अच्छे होंगे तो अच्छे फल और बुरे कर्मो के बुरे फल देने वाले है | इसी कारण इन्हे धर्मराज भी कहा जाता है |


yamraj se judi rochak baate

यमराज का परिवार और रूप

यम के पिता भगवान सूर्यदेव  और इनकी माता का नाम संज्ञा है | इनकी बहिन नदी यमुना और भाई शनिदेव  है | इनका वाहन भैंसा और संदेशवाहक के रूप में उल्लू और कौवा है | इनके हाथ में गदा है | इनके मुकुट पर भैंसे के सिंह लगे हुए है |


कर्मो के अनुसार देते है आत्मा को आगे का लोक :

यह अपने सहायक चित्रगुप्त के साथ मिलकर मरने वाले प्राणी को उसके अच्छे और बुरे कर्मो के अनुसार आगे का स्वर्ग या नरक लोक प्रदान करते है | यदि कर्म बुरे होंगे तो नरक की आग में तपना होगा और यदि कर्म अच्छे हुए तो स्वर्ग के सुख पाने होने | यह वेद व्यास जी द्वारा रचित गरुड़ पुराण में विस्तृत बताया गया है |

Other Similar Posts

एक श्राप के कारण , यमराज को भी लेना पड़ा था मनुष्य का जन्म

मौत के देवता यमराज का मंदिर

धनतेरस पर कुबेर और यमराज की पूजा विधि

कुबेर की पूजा विधि और धन प्राप्ति मंत्र जप विधि

यमुना नदी से जुड़ी पौराणिक बाते

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.