क्यों पसंद है शिव को भांग और धतुरा

शिव को भांग और धतुरा

क्यों पसंद है भगवान शिव को भांग और धतूरे जैसी नशीली चीजे :

भगवान शिव के शिवलिंग पूजा में दूध के साथ भांग और धतुरा अर्पित करने की परम्परा है | माना जाता है की ये नशीली चीजे भोले को अति प्रिय है | हम इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे की क्यों शिव को यह अति प्रिय है |

भांग धतूरा  करती है शरीर में गर्मी :

धर्मग्रंथो के अनुसार भगवान शिव का वास कैलाश पर्वत है जो बर्फ से आच्छादित रहता है | यहा अति ठण्ड है |

भांग का इस जगह सेवन करने से शरीर में एक गर्मी पैदा होती है जो इस जगह में रहने में सुविधा प्रदान करती है | शिव सन्यासी है अलग है इसलिए उन्हें अलग ही चीजे है पसंद |

भांग से दिमाग की चंचलता बंद :

भांग का नशा दिमाग को एक दिशा में सोचने पर विवश कर देता है | घोर तपस्या करने वाले भगवान शिव जब भांग का सेवन करते है तो उन्हें इस तपस्या में सहायता पर सुलभता  प्राप्त होती है |

हलाहल विष से किया था बचाव :

भांग और धतुरा बिल पत्र यह सब दूध के साथ जब देवी देवताओ ने भोलेनाथ को पिलाया तब हलाहल विष से उनके गले को आराम मिला तब से यह परम्परा बन गयी की उन्हें यह चीजे अर्पित की जाये |

यह लेख भी जरुर देखे

शिव का अनोखा मंदिर – शिवलिंग की नही शिव के अंगूठे की होती है पूजा

शिव पूजा से होते है सभी संकट दूर

पापमुक्ति का सर्टिफिकेट देता है गोतमेश्वर महादेव मंदिर

क्यों शिवलिंग पर बिलपत्र और दूध जल चढ़ाया जाता है

इस मंदिर में गर्दन कटी माता का मंदिर – गर्दन से निकलती है तीन रक्त की धारा

तिजोरी में रखे यह ध्यान – होगा धन धान में बढ़ोतरी

क्यों चीनी लोगो ने बनाया इस काली मंदिर को – भोग में लगाते है नुडल्स का भोग