भारत के मुख्य पवित्र धार्मिक पर्वत

भारत के मुख्य पवित्र धार्मिक पर्वत हिन्दू धर्म में भगवान को कण कण में बताया गया है | हम प्रकृति में भी देवता को देखते है | हमने पहले आपको बताया था की हिन्दू धर्म में वे 10 पवित्र और धार्मिक पेड़  जिनका पूर्ण सम्मान और वंदना की जानी चाहिए | भारत की पवित्र नदियों के बारे में भी बताया […]

Read more

होलाष्टक क्या है

होलाष्टक पर वर्जित शुभ कार्य Holashtk 2019 and Importance होलाष्टक के समय शुभ कार्य वर्जित होते है | यह फाल्गुन शुक्ल पक्ष की अष्टमी को लगता है | होलाष्टक फिर आठ दिनों तक रहता है और सभी शुभ मांगलिक कार्य रोक दिए जाते है | यह दुलहंडी पर रंग खेलकर खत्म होता है | पढ़े : होलिका दहन शुभ मुहूर्त […]

Read more

हिन्दू धर्म में 10 सबसे पवित्र और पूजनीय वृक्ष

पवित्र और धार्मिक वृक्ष (पेड़ ) जिनकी होती है पूजा हिंदू धर्म का वृक्ष से गहरा नाता है। वृक्ष की रक्षा के लिए कई लोगो ने अपनी जान तक दी है | ये पेड़ प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप में सदियों से मनुष्यों को अन्न फल फुल लकड़ी और शरण देते आये है  | शास्त्रों के अनुसार जो व्यक्ति एक पीपल, […]

Read more

स्वस्तिक चिन्ह का महत्व और फायदे

स्वस्तिक चिन्ह महत्व स्वस्तिक चिन्ह भारतीय संस्कृति में हिन्दू धर्म का मंगल प्रतिक है |इसे सातिया या साथिया भी बोला जाता है | यह हमारे महान ऋषि मुनियों की देन है जो ईश्वर की शक्ति अपने अन्दर समाये हुए है |  किसी भी शुभ कार्य से पहले रोली चन्दन से स्वस्तिक चिन्ह बनाकर ही पूजा अर्चना शुरू की जाती है | […]

Read more

भगवान गणेश के अलग अलग प्रसिद्ध नामो का अर्थ

गणेश के प्रसिद्ध नाम और अर्थ गणेश शिवजी और पार्वती के पुत्र हैं। गणों के स्वामी होने के कारण उनका एक नाम गणपति भी है। हाथी जैसा सिर होने के कारण उन्हें गजानन भी कहते हैं। पढ़े : भारत में गणेश के मुख्य प्रसिद्ध मंदिर कौनसे है इनको केतु का देवता माना जाता है और जो भी संसार के साधन […]

Read more

शिवपुराण : ये 12 संकेत बताते है की मृत्यु निकट है

मृत्यु( मौत ) के 12 संकेत शिवपुराण के अनुसार जो इस संसार में आया है , वो एक ना एक दिन जरुर जायेगा | कोई पूरी उम्र बिताकर तो कोई अकाल मृत्यु पायेगा | आना जाना जीवन मरण संसार का एक घोर सत्य है | यदि हम हिन्दू धार्मिक शास्त्र शिव महापुराण की बात करे तो इसमे कुछ ऐसे संकेत […]

Read more

तीन लोक और 14 भवन के नाम

हिन्दू धर्म शास्त्रों में त्रिलोक या तीन लोक और 14 भवन के बारे में बताया गया है | आइये जानते  है यह कौनसे है | तीन लोको के नाम 1.पाताल लोक ( अधोलोक ): इस लोक में राजा बलि अमर है | यह वरदान उन्हें विष्णु ने दिया था | विष्णु पुराण के अनुसार सात प्रकार के पाताल लोक होते […]

Read more

सत्संग के अमृत कण – 61 अनमोल बाते जो आपको जानना जरुरी है

सत्संग के अमृत कण – अनमोल बाते सत का संग अर्थात सत्संग, जहां ‘सत्’ का अर्थ है परम सत्य अर्थात् ईश्‍वर, तथा संग का अर्थ है साधकों अथवा संतों का सान्निध्य । संक्षेप में, सत्संग से तात्पर्य है ईश्‍वर के अस्तित्त्व को अनुभव करने के लिए अनुकूल परिस्थिति । ईश्‍वर का नामजप करना आरंभ करने के उपरांत साधना का यह […]

Read more

पूजा में हवन और यज्ञ का महत्व और लाभ

हवन और यज्ञ का महत्व यदि मैं यह बोलु की हमारे हिन्दू सनातन धर्म में पूजा का  सबसे अच्छा मार्ग हवन और यज्ञ है तो इसमे किसी को कोई शंका नही होगी | इस विधि से भगवान को सदियों पहले से ही हमारे ऋषि मुनि रिझाते हुए आये है | यज्ञ को अग्निहोत्र कहते हैं। अग्नि ही यज्ञ का प्रधान […]

Read more

देवताओ में अग्नि देवता की महिमा और परिचय

कौन है अग्नि देव जाने महिमा अग्नि देवता पञ्च तत्वों में से एक है | इन्हे यज्ञ और हवन का सबसे महान अंग माना जाता है | हवन के माध्यम से इन्ही के द्वारा हव्य देवताओ तक पहुँचती है | अत: इन्हे सभी देवताओ का मुख भी कहा जाता है |  ये सर्वत्र प्रकाश करने वाले एवं सभी पुरुषार्थों को […]

Read more
1 4 5 6 7 8 12