माँ शीतला के प्रिय भोग बसौड़ा शीतलाष्टमी पर

माँ शीतला जिन्हें चेचक की देवी भी कहा जाता है | इनकी पूजा का मुख्य दिवस शीतलाष्टमी का है जो चैत्र माह की कृष्ण अष्टमी को आता है | एक दिन पहले रांधा पूवा के दिन पहले सभी भोग बनाये जाते है और फिर अगले दिन सुबह कुम्हार के घर जाकर माता को भोग लगाकर पुरे दिन यही ठंडा बांसा […]

Read more

चैत्र नवरात्रि 2020 – ये बाते जानना है जरुरी

ममतामई माँ शक्ति जिन्होंने ममता बनाई और उस ममत्व में इस चराचर जगत की रचना की | इस ममतामई माँ और उसके विभिन्न 9 रूपों की पूजा के लिए साल में चार बार नवरात्रि का त्योहार आता है | जिसमे 2 मुख्य नवरात्रि शारदीय (शीतकालीन ) और चैत्र (ग्रीष्म कालीन ) है | जबकि अन्य 2 नवरात्रि गुप्त है जो […]

Read more

शीतला अष्टमी 2020 पर कैसे करे माँ शीतला की पूजा

फाल्गुन माह के बाद आने वाले चैत्र मास की कृष्ण पक्ष अष्टमी को माँ शीतला से जुड़ा पर्व शीतला अष्टमी मनाया जाता है | यह पर्व होली के ठीक आठ दिन बाद आता है | इसे बसोरा और बासोड़ा भी कहते है | यह दिन बांसे या ठन्डे खाने से जुड़ा है अर्थात पुरे दिन माँ को बांसे खाने का […]

Read more

तिरुपति बालाजी (तिरुमाला ) रथ यात्रा का महत्व

भारत के सबसे धनि मंदिरों में से सबसे ऊपर तिरुपति बालाजी मंदिर का नाम आता है जो तिरुमाला पर्वतो के बीच में है | यहा भगवान विष्णु के वेंकटेश्वर रूप की पूजा अर्चना विधि विधान से की जाती है | रथयात्रा के समय लाखो श्रद्धालु इसमें शामिल होते है और रथ को खीचते है | भगवान वेंकटेश्वर , श्री लक्ष्मी […]

Read more

जानिए शुभ मुहूर्त होली का 2020 और किसे कहते हैं ‘होली का डंडा’

होली मुख्यत दो दिन का त्योहार है | जिसमे एक शाम को होलिका दहन तो अगले दिन रंगभरी होली ( धुलंडी ) होती है | होलिका दहन के दिन से बहुत दिन पहले होली का डंडा रोपा जाता है | आइये जानते है कि क्या होता है होली का डंडा और इसके महत्व के बारे में | पढ़े – होलाष्टक […]

Read more

दिवाली की रात क्यों बनाया जाता है काजल?

भारत में सबसे बड़े त्योहार के रूप में दीपावली को जाना जाता है | यह पर्व साफ़ सफाई , रोशनी और प्रेम बाँटने का पर्व है | इस दिन को लेकर कई मान्यताये भी सदियों से चली आ रही है , जिसमे से एक है दीपावली की रात को काजल बनाकर घर के सभी सदस्यों की आँखों में लगाना | […]

Read more

सफला एकादशी व्रत महत्व कथा नियम और पुण्य प्राप्ति

हमारे सनातन धर्म में विष्णु भक्ति के लिए एकादशी का अत्यंत महत्व है | सफला एकादशी मनोरथो को सफल करने वाली एकादशी बताई गयी है जो पौष मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को आती है | कहते है जो व्यक्ति इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना नियम पूर्वक करता है और रात्रि में जागरण करके भगवान विष्णु की […]

Read more

देवउठनी एकादशी पर तुलसी पूजा का है विशेष महत्व

Dev Uthani Ekadashi Par Tulsi Se jude Upaay . जगत के पालनहार श्री नारायण विष्णु है जिनकी पूजा की सबसे पवित्र तिथि एकादशी को बताया गया है | इन सभी एकादशियो में देव उठनी एकादशी ऐसी है जिस दिन भगवान विष्णु पाताल लोक से निद्रा त्याग कर उठते है | कार्तिक मास की शुक्ल एकादशी वाला यह पवित्र धार्मिक दिन […]

Read more

मणिकर्णिका घाट का सबसे पवित्र स्नान

Manikarnika Ghat Kaashi Main Bath Festival Day भगवान शिव की नगरी काशी में गंगा तट पर 84 घाट बने हुए है पर इन सभी घाटो में सबसे अलग है मणिकर्णिका घाट | यह घाट श्मशान के निकट है | इस घाट को लेकर ऐसी मान्यता है कि इस श्मशान की अग्नि कभी शांत नही होती | और इस घाट पर […]

Read more

दीपावली पर कौनसे काम नही करने चाहिए

दीपो और रोशनी का दिन दीपावली जो रात तो कार्तिक अमावस्या की , पर हिन्दू धर्म में इस रात को दीपो से रोशन किया जाता है | दीपावली संभवत हिन्दू धर्म में सभी बड़े त्योहार में सबसे ऊपर है | दीपावली की पौराणिक कथा के अनुसार इस दिन श्री राम वनवास काटकर अपने राज्य अयोध्या आये थे | उनके स्वागत […]

Read more
1 2 3 15