मंदिर में ना करे ये गलतियां , वरना पूण्य की जगह मिलेगा दोष

मंदिर में ना करे ये काम , वरना लगेगा दोष Mandir Me Kounse Kaam Nhi Karne Chahiye मंदिर (Temple) का अर्थ है मन से दूर वो स्थान जहा ईश्वर की कृपा प्राप्ति के अवसर ज्यादा बढ़ जाते है | रोजाना हजारो लाखो जयकारो और शंख – घंटी की आवाज से मंदिर का स्थान सिद्ध हो जाता है , जहा से […]

Read more

जयपुर के मुख्य दर्शनीय और धार्मिक स्थल जो है आस्था के केंद्र

जयपुर के प्रसिद्ध मंदिर और धार्मिक स्थान Jaipur Ke Prasidh Aur  Mukhy Mandir राजस्थान की राजधानी गुलाबी नगरी के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिरों की जानकारी आप यहा से प्राप्त कर सकते है | जयपुर शांत प्रिय और आस्था के सरोवर में डूबा हुआ शहर है | यहा आने वाले हिन्दू पर्यटक इन मंदिरों में दर्शन करने जरुर आते है | […]

Read more

देवराज इंद्र से जुड़ी कुछ रोचक बाते

देवराज इंद्र से जुड़ी कुछ रोचक बाते Devraj Indra Se Judi Rochak Baate : इन्द्र के बारे में हम सभी यह जानते है की वे स्वर्ग के राजा है  खूबसूरत अप्सराओं के नृत्य प्रिय है | वे बहुत ही वैभवशाली और सभी सुख सुविधाओ के भोगकर्ता है | उनके सहयोगी अग्नि देवता , वरुण देव , पवन देव आदि है […]

Read more

क्यों शूर्पणखा चाहती थी रावण का वध हो

शूर्पणखा चाहती थी रावण का सर्वनाश हम सभी जानते है की शूर्पणखा लंकापति रावण की असुर बहिन थी पर रावण और उसके सहयोगियों के पतन का एक बहुत बड़ा कारण भी यही बनी थी | महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण में एक प्रसंग ऐसा आया है जो बताता है की रावण की हार उसकी सगी बहिन शूर्पणखा भी चाहती थी […]

Read more

पञ्च प्रयाग जहा होता है पवित्र नदियों का संगम

उत्तराखंड के पञ्च प्रयाग Five Confluence of Uttarakhand देव भूमि उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में हैं पांच प्रयाग है | यहा पवित्र नदियाँ आपस में मिलती है और आगे बढती है | यह पांच प्रयाग देवप्रयाग, रूद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग और विष्णु प्रयाग के नाम से जाने जाते है | अब आइये जानते है इन सभी पांच प्रयागों की कहानी : […]

Read more

किस देवी देवता के लिए कौनसा दीपक जलाना चाहिए

किस देवता या ग्रह के लिए कौन सा दीप जलाएं ? हिन्दू धर्म में हर देवी देवता की पूजा में दीपक जलाया जाता है | पूजा में आरती का महत्व जैसे है वैसे ही दीपक जलाने का महत्व है | धार्मिक ग्रंथों के अनुसार देवी देवता की पूर्ण कृपा की प्राप्ति के लिए उनके अनुसार ही दीपक जलाना चाहिए | […]

Read more

कैसे जन्मे पांडव जबकि पांडु का अंश नही था उनके शरीर में

पांडवो की जन्म कथा महाभारत के अनुसार पाण्डु अम्बालिका और ऋषि व्यास के मानस  पुत्र थे। वे पाण्डवों के पिता और धृतराष्ट्र के कनिष्ट भ्राता थे। इनकी दो पत्नियाँ कुंती और माद्री थी | पांडु को मिला भीषण श्राप जब पांडु पिता नही बने थे तब वे एक बार शिकार पर गये | जंगलो के उस पार मृग के भ्रम […]

Read more

क्यों अर्जुन ने भीष्म को बाणों की शैय्या पर लिटाया

अर्जुन ने भीष्म को बाणों की शैय्यापर क्यों लेटाया Kyo Arjun Ne Bhism Ko Baano Ki Shaiyya Par Litaya महाभारत में आपने देखा या सुना होगा की गंगा पुत्र भीष्म पितामह कुरुक्षेत्र के मैदान में बाणों की शैय्या पर लेटे हुए थे | ना ही ही उनका शरीर धरती को छु पा रहा था और ना ही आकाश को | […]

Read more

इस शख्स को डॉक्टर कहते है भगवान , बचाई लाखो बच्चो की जान

जेम्स हैरिसन कहलाते है भगवान , लाखो बच्चो को दिया जीवन दान James Harrison Kaise bane Bhagwaan दान यदि किसी को जिंदगी दे तो वो शख्स किसी भगवान से कम नही होता , कोई उसे ईश्वर का साक्षात् दूत मानते है तो कोई Super Power Man | आज हम ऐसे ही विशेष व्यक्ति की बात करने वाले है जिसका जीवन […]

Read more

मलमास ( पुरुषोत्तम मास ) में क्या करे और क्या नही करे

Purshotam Mas Me Kya Kare Or Kya Nahi Kare हिन्दू पंचांग के अनुसार 2018 में जयेष्ट मास में दिनांक 16 May से अधिकमास शुरू हो रहा है जिसे पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है | धर्म कर्म पूजा के लिए यह बहुत ही अच्छे दिन माने जाते है जिसके फल कई गुणा मिलते है | यह 16 May से 13 […]

Read more
1 2 3 95